उत्तराखंड का इतिहास – रोचक तथ्य

उत्तराखंड का इतिहास – रोचक तथ्य

उत्तराखंड जो कि “देवभूमि” के नाम से प्रसिद्ध है। भारत में स्तिथ एक राज्य है जिसकी स्थापना 9 नवम्बर 2000 में हुई थी। यह 27 वे राज्य के रूप में अस्तित्व में आया था, इससे पहले यह उत्तरप्रदेश का एक हिस्सा था।  कई वर्षो तक चले आंदोलन के पश्चात ही उत्तराखंड का निर्माण संभव हो पाया था। 2006 तक उत्तराखंड का नाम उत्तराँचल था लेकिन स्थानीय लोगो की सिफारिश पर इसे उत्तराखंड कर दिया गया।  उत्तराखंड को भारत देश का सबसे पवित्रतम स्थान माना गया है, यहाँ हरिद्वार ऋषिकेश जैसे कई तीर्थस्थल है। तो आइये जानते है उत्तराखंड का इतिहास और उत्तराखंड से जुड़े कुछ रोचक तथ्य।

उत्तराखंड के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • भारत का सबसे बड़ा बाँध “टिहरी डैम” उत्तराखंड के टिहरी जिले में स्तिथ है। यह भागीरथी नदी पर बना हुआ है।
  • माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचने वाली पहली महिला “बछेंद्री पाल” उत्तराखंड से ही है।
  • दुनिया का सबसे ऊँचा शिव मंदिर “तुंगनाथ” उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्तिथ है। यह समुद्र तल से 12073 ft की ऊंचाई पर है। माना जाता है की यह मंदिर 1000 वर्षो से भी पुराना है।
  • “जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क”, जो कि भारत का सबसे पुराना पार्क है उत्तराखंड के नैनीताल जिले में है। इसकी स्थापना सन 1936 में हुई थी।
  • भारत का पहला कृषि विश्वविद्यालय “गोविन्द बल्लभ पन्त यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी” उत्तराखंड में ही है।
  • “फूलों की घाटी” भी उत्तराखंड में है। यह चमोली गढ़वाल में स्तिथ  है।
  • 1970 में पेड़ों की सुरक्षा के चलाया गया “चिपको आंदोलन” उत्तराखंड की महिलाओ ने किया था।
  • उत्तराखंड को वीर भूमि भी कहा जाता है। यहाँ भारतीय सेना के दो प्रमुख रेजिमेंटल केंद्र “कुमाऊं रेजिमेंट” और “गढ़वाल राइफल” है। भारत में परमवीर चक्र पाने वाले पहले सिपाही मेजर सोमनाथ शर्मा जी का जन्म उत्तराखंड में ही हुआ था।
  • भारत के लिए पहला व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले “अभिनव बिंद्रा” का जन्म देहरादून उत्तराखंड में हुआ है।
  • भारत की प्रमुख नदियां गंगा और यमुना का उद्गम स्थल गंगोत्री और यमुनोत्री उत्तराखड में ही है।
  • 7816 mtr की ऊंचाई के साथ भारत का दूसरा सबसे बड़ा पर्वत “नंदा देवी” उत्तराखण्ड के चमोली जिले में है।
  • उत्तराखंड भारत का एकमात्र राज्य है जहाँ की प्रमुख भाषा संस्कृत है। तथा यहाँ हिंदी, कुमाऊँनी और गढ़वाली भाषा भी बोली जाती है।
  • चार धामों में से एक “बद्रीनाथ” उत्तराखंड में है। तथा यहाँ यमुनोत्री, गंगोत्री और केदारनाथ भी है जो छोटा चार धाम के नाम से मशहूर है।

यह भी देखें – भारतीय मुद्रा से जुड़े रोचक तथ्य एवं इतिहास

उत्तराखंड में मंडल एवं जिले

उत्तराखंड 2 मंडलों में विभाजित है, कुमाऊं और गढ़वाल। कुमाऊं में 6 तथा गढ़वाल में 7 जिले है।

कुमाऊँ मण्डल

  • अल्मोड़ा
  • उधम सिंह नगर
  • चम्पावत
  • नैनीताल
  • पिथौरागढ़
  • बागेश्वर

गढ़वाल मण्डल

  • उत्तरकाशी
  • चमोली
  • टिहरी
  • देहरादून
  • पौड़ी
  • रूद्रप्रयाग
  • हरिद्वार

जनसंख्या – 1,01,16,752

जनसंख्या घनत्व – 190/वर्ग किलोमीटर

लिंग अनुपात – 1000 पुरुषों में 930 महिलाएं

साक्षरता दर – 80%

विधानसभा सीटें – 71

लोकसभा सीटें – 5

राज्यसभा सीटें – 3

उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल –
  • नैनीताल
  • औली
  • मसूरी
  • ऋषिकेश
  • देहरादून
  • लैंसडाउन
  • फूलों की घाटी

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री

नित्यानन्द स्वामी
भगत सिंह कोश्यारी
नारायण दत्त तिवारी
भुवन चन्द्र खण्डूरी
रमेश पोखरियाल निशंक
विजय बहुगुणा
हरीश रावत (वर्तमान)

उत्तराखंड के राज्यपाल

सुरजीत सिंह बरनाला
सुदर्शन अग्रवाल
बी ऍल जोशी
मार्गरेट अल्वा
अजीज कुरेशी
के के पौल (वर्तमान)

आशा करते है की आप सभी को उत्तराखंड से सम्बंधित यह जानकारियां पसंद आयी होंगी। आप इसे सोशल साइट्स में भी शेयर कर सकते है। धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *